वार्ड अबेल L.Ward Abel

वार्ड अबेल संगीतकार, गायक और कवि हैं, उनकी कविताओं में संगीत को लेकर जो प्रयोग वे कविता को एक ध्वन्यात्मक सौन्दर्य देतें हैं। अमेरिकावासी होने पर भी उनकी कविताओं में विचित्र तरलता है।

सुनना

नीचे उतरते बादलों का नजारा
सुनहरी किनारी को छू रहा है

पगलाई उदासी
कपड़े में छेद
दीवार में दरार
कुछ बाहर रिस रहा है
कुछ संगीत सा
एक अकेला प्यानों कमल खिलने की
धुन बजा रहा है

कोई नहीं सुन रहा है
कोई नहीं सुन रहा है

(दोनों कविताओं के अनुवाद‍- रति सक्सेना)
 


मेरी बात | समकालीन कविता | कविता के बारे में | मेरी पसन्द | कवि अग्रज
हमसे मिलिए | पुराने अंक | रचनाएँ भेजिए | पत्र लिखिए | मुख्य पृष्ठ