डितर बर्दल
 


ईस्टर 69
पीटर वाग के अंग्रेजी अनुवाद से
हिंदी अनुवाद -दुष्यंत

हुआ यह है-
मछुआरे के जाल में चमकता है प्राप्त
रेत पर निशान
पूरी तरह आंसुओं से भरे हुए।

हुआ यह है -
शिकारी के जाल में टिमटिमाता है प्राप्त
रास्ते के साथ साथ
अपठित संदेश
पेड से लटके हुए हरे हरे

हुआ यह है -
बाजीगर के जाल में डरा हुआ है सोया हुआ है प्राप्त
आग की चमक में
एक शांत सी सील मछली
उभरती है 1001 चंद्रमाओं से

मैं खुद ही जाल हूं
हुआ यह है।


मुठभेड़
पीटर वाग के अंग्रेजी अनुवाद से

रात के नीले ख्वाबों में
पतंगे मंडराते हैं आग के चारों ओर
जैसे माथों पर चमकते हैं अचानक पीले फूल
और बर्फ में पिघलते हैं छुटपुट विचार।

कहीं से आकर चांद के सामने से गुजरते बादल
आंसुओं को कोई नहीं देखता
जिन्होंने शांत कर दिया है आग को।

हवा में घुले मिले हैं शब्द
धरती पर उड़ते पीले पत्ते
आह भरती हरी-भरी चारागाह भूमि
और धरती के सांसो में घुले हैं सवाल।

दूर कहीं से आकर गुजरे हैं बादल चंद्रमा के सामने से
कोई नहीं सुनता उनकी आवाज
जिन्होंने पैदा की है हवा

बेचैन अंतर्मन !
रक्तिम आभायुक्त नब्ज, जिस्म से चिपकी
और होंठ सुबह के इंतजार में
एक चुंबन की उम्र तक।

दूर कहीं से आकर गुजरे हैं बादल चंद्रमा के सामने से
उस सितारे को नहीं देखता कोई
जो ठहर गया है।

मार्च
पीटर वाग के अंग्रेजी अनुवाद से

मार्च गुपचुप आता है
एक ख्वाब की तरह
यह आता है
बिना किसी झांझ-मजीरे या खड़ताल के
बिना नक्कारे
और बिना किसी ट्रम्पेट के।

यह आपके दिल में धड़कता है
आपके रक्त में भी
आपके भीतर दौड़ता है
एक खामोश फिल्म की तरह
फिर से गायब होने से पहले
बहुत चुपचाप।

हालांकि तुमने इस पर ध्यान दिया
जब कुछ मीलों दूर था
आपके दिलों में
आपके रक्त में
सब कुछ बदल जाता है
अचानक और हो जाता है अलग सा।

पतझड में जीवन है अभी भी
पीटर वाग के अंग्रेजी अनुवाद से

एक गर्म नाशपाती
नाशपाती के पेड़ पर
दो पत्तियां बची हुई के साथ
उस नाश पाती के पेड़ पर
तीन शराब पीये हुए से काले परिंदे
उस नाशपाती के पेड़ पर
एक सुबह चली गई
तो गुजर जाते है दिन-दोपहर भी
जब सूरज अब और उपर नहीं जाता है
पतझड के नीले आसमान में
तब यह छिपना षुरू कर देता है
वाइनयार्डस के पीछे ढलता है
ढलता है बहुत सारे वाइनयार्ड्स के पीछे

तब कुछ वक्त बाद
अक्टूबर की हवा आती है
तोड़ने
नाशपाती के पेड़ से नाशपाती
दो पत्तियां बची हुई उस नाशपाती के पेड़ से
रोशनी की सी तेजी से
और
तीन शराब पीये हुए से काले परिंदे
उस नाशपाती के पेड़ से
तथा
वाइन सराय की ताजी महक
फैलती है बहुत सारे वाइनयार्ड्स में
यहां और
और यहां हमारे तक भी।

मतलब क्या है
पीटर वाग के अंग्रेजी अनुवाद से

मतलब क्या है !
बधिरों के सामने तुरंत कामेडी का
जब वे हमारी जुबान नहीं समझते !

क्या अर्थ है !
मूकों के सामने कंसर्ट का
जब वे हमारे संगीत को नहीं सुन सकते तो !

क्या अहमियत है !
दृष्टिहीनों के लिए कविता की
जब वे हमारी किताबें ही नहीं पढ सकते तो !

क्या उपयोग है !
निशक्तों के लिए कलादीर्घाओं का
जिनके लिए स्थापत्य की कोई प्रषंसा नहीं तो !

बीमार और बुजुर्ग
हमसे क्या अपेक्षा करते हैं- अच्छा स्वास्थ्य !
जब वे हमारी संस्कृतियों में कोई भूमिका नहीं निभाते !

राबर्ट बन्र्स की कविता
जर्मन अनुवाद - डिटर बर्दल
हिंदी अनुवाद -दुष्यंत

मेरा प्रेम है लाल, लाल गुलाब सा
जून में ताजा-ताजा खिला हुआ
मेरा प्रेम है संगीत मधुर
मीठी धुन में बजता हुआ

इतना धवल है वह कलारूप सा
जिसके प्रेम में मैं डूबा हूं गहरे
फिर भी मैं करूंगा प्रेम तब तक मेरे प्रिय
जब तक सूख ना जाएं सारे समंदर गहरे

जब तक कि सूख ना जाएं सारे समंदर मेरे प्रिय
और चट्टानों से सूरज पिघल जाए
फिर भी मैं करूंगा प्रेम तब तक मेरे प्रिय
जब तक जीवन की रेत है आगे बढती जाए

विदा, मेरे इकलौते प्रेम
विदा, बस कुछ समय के लिए
मैं फिर आउंगा मेरे प्रिय
दस हजार मील दूर भी मिलने के लिए।

Dieter Berdel (Austria, original language German + Viennese dialect)
Born in 1939, Dieter Berdel lives in Vienna, Austria. He studied industrial design at the University of Applied Arts in Vienna, where he also worked for some time as an assistant professor in the master class for industrial design. Thereafter, he co-founded the Institute for Social Design in Vienna. Numerous specialist publications in the field of barrier-free design.
Dieter Berdel is the author of poetry, short prose and visual poetry in both 'High' German and Viennese dialect. He has also made Viennese dialect translations of the Chinese poet Li-Tai-Pe (Li-Tai-Bo) and of ballads and song lyrics by the Scottish bard and national poet Robert Burns. To date, he has published ten books and CDs. He has won the Viennese Dialect Poetry Slam Prize several times. A selection of his poems has been translated into Spanish and he has participated at various international poetry festivals (incl. Rosario and Buenos Aires / Argentina). The co-organiser of readings and poetry festivals in Austria, Dieter Berdel is a member of several literary societies, incl. the 'Grazer Autorenversammlun'.
 


मेरी बात | समकालीन कविता | कविता के बारे में | मेरी पसन्द | कवि अग्रज
हमसे मिलिए | पुराने अंक | रचनाएँ भेजिए | पत्र लिखिए | मुख्य पृष्ठ